Acharya Myuresh : Kal Sarp Dosh Effects and Remedies | Kundli of King Akbar

Kaal-Sarp-Dosh

Acharya Myuresh : Kal Sarp Dosh Effects and Remedies | Kundli of King Akbar

Kaal Sarp Dosh Effects and its Nivaran

कालसर्प दोष आज के युग में एक भयंकर समस्या के रूप में उत्पन्न हो रहा है| आज अधिकतर लोग इस दोष से पीड़ित हैं यह दोष बनता कैसे हैं? यह सब के मन में प्रश्न उठता है आज हम एक ऐसा उपाय बताएंगे जिससे आप भी अपनी कुंडली में देख सकते हैं कि कालसर्प दोष  है या नहीं है|

यदि सभी ग्रह राहु, केतु के बीच में जाए तब पूर्ण कालसर्प दोष बनता है| यदि कोई एक ग्रह राहु केतु की पकड़ से बाहर हो, तो ऐसी स्थिति में इस योग को छाया कालसर्प दोष कहा जाता है या इसे अर्ध कालसर्प दोष भी कहा जाता है|

कालसर्प दोष वृष ,मिथुन ,कन्या एवं तुला लग्न के जातकों को विशेष रूप से प्रभावित करता है |यदि किसी जातक की कुंडली में राहु अष्टम भाव में तथा केतु द्वितीय भाव में हो तो ऐसी अवस्था में कालसर्प दोष काफी पीड़ादायक होता है| ऐसे जातक को स्वप्न में सर्प दिखाई देते हैं जिसके कारण जातक को निंद्रा में भयभीत होने की समस्या हो जाती है| गुरु के भ्रमण करते समय जब किसी जातक की जन्म कुंडली में राहु छठे आठवें या बारहवें भाव में गोचर करता है तब राहु केतु की दशा अंतर्दशा में कालसर्प दोष के फल तीव्रता से मिलते हैं| राहु केतु की तुलना  फलित ज्योतिष में सर्प  से की गई है राहु सर्प का मुख एवं केतु सर्प की पूछ मानी गई है|

जिस व्यक्ति की कुंडली में कालसर्प दोष होता है उस व्यक्ति को अपने जीवन काल में अनेक उतार-चढ़ाव देखने को मिलते हैं ऐसा जातक सांसारिक सुखों से वंचित रहता है सुख चैन की सांस लेना भी उसके लिए कठिन हो जाता है ऐसा जातक को अपने जीवन में काफी संघर्ष करना पड़ता है उचित एवं प्राप्त होने वाली प्रगति में अनेक रुकावट आती है ऐसा जातक को बहुत विलंब से यश प्राप्त होता है ऐसा जातक मानसिक शारीरिक एवं आर्थिक रुप से परेशान रहता है ऐसा देखा गया है कि कालसर्प दोष के कारण जातक की उन्नति नहीं होती उसे कामकाज करने को नहीं मिलता यदि उसे कामकाज मिल भी जाए तो उसमें अनेक अड़चने  उपस्थित हो जाती है जिसके परिणाम स्वरूप से अपनी जीविका चलाना मुश्किल हो जाता है

अब हम इसके उपाय की बात करेंगे |

  • आप बुधवार के दिन 72 मुट्ठी मूंग जल प्रवाह करें |
  • पलाश के फूल गोमूत्र में कूटकर छांव में सुखाएं उसका चूर्ण बनाकर नित्य स्नान करने की बाल्टी में डाले इस प्रकार 72 बुधवार तक स्नान करने से कालसर्प दोष में फर्क दिखाई देता है
  • राहु और केतु के बीज मंत्र का जाप करें  |
  • सावन मास में प्रत्येक सोमवार को रुद्राभिषेक करवाएं  | 
  • गोमेद और लहसुनिया रत्न धारण करें  |
  • सावन मास में किसी भी सोमवार को शिवलिंग पर तांबे का नाग चढ़ाई |

 

इस कुंडली में केतु चतुर्थ भाव में , राहु दशम भाव में होने के कारण पूर्ण रूप से कालसर्प दोष बन रहा है और इस कुंडली में शनि पंचम स्थान पर धनु राशि में होने के कारण पुत्र सुख में भी कमी लेकर आए यहां पर इस कुंडली के अनुसार जातक को तीन कन्याएं उत्पन्न हुई | यहां पर शनि की वजह से पुत्र सुख में बाधाएं उत्पन्न हुई हैं एक इसका मुख्य कारण कालसर्प दोष भी है |

यह कुंडली सम्राट अकबर की है|

इस कुंडली में भी राहु पंचम स्थान में, केतु एकादश भाव में होने के कारण पूर्ण रूप से कालसर्प दोष बन रहा है लेकिन इस कुंडली में तीन शुभ ग्रह बुध, बृहस्पति और स्वग्रही शुक्र लग्न में होने के कारण धर्म अर्थ विद्या यश कृति लाभ शांत स्वभाव एवं सुंदर शीलयुक्त प्रबल अखंड राजयोग  को बनाता है| लग्न में उच्च का शनि लग्नेश स्वग्रही  शुक्र एवं गुरु  से युक्त है|

 चतुर्थ भाव में उच्च का मंगल दशम भाव को पूर्ण दृष्टि से देखता है |

तथा सुखेश की दशम सप्तम एवं दशमेश पर पूर्ण दृष्टि है ,शनि उच्च का शुक्र स्वग्रही मंगल ने इन्हें सम्राट के शिखर पर पहुंचाया तथा अखंड कीर्ति प्रधान की |

लेकिन पंचम भाव में पापी राहु शनि की राशि में होने के कारण इन्हे  विलासी एवं निकम्मा पुत्र  मिला |

शनि लग्न में शुक्र की राशि और शुक्र के साथ तथा  गुरु के साथ युति बनाने के कारण  इसका स्वभाव बड़ा क्रूर रहा |

Note : Regarding Kaal Sarp Dosh.

बहुत सारे मनुष्य को सिर्फ एक यही भ्रम रहता है कि कालसर्प दोष उनके लिए हमेशा ही हानिकारक होता है लेकिन ऐसा नहीं है| कालसर्प आपके लिए लाभदायक भी होता है जितने कम स्थानों पर अधिक ग्रह बैठेंगे| तो  राजयोग बनाएंगे | आप जितने भी बड़े लोगों की कुंडली देखेगा | तो उनमें अधिकतर कुंडलियों में कालसर्प दोष मिलेगा |

इसके में कुछ उदाहरण आपके सामने पेश करना चाहूंगा जैसे कि

  1. स्वतंत्रता संग्राम सेनानी बाल गंगाधर तिलक
  2. हिटलर
  3.  माधुरी दीक्षित
  4.  मुरारी बापू
  5. मुरारी जी देसाई देसाई
  6. बिल क्लिंटन
  7. सरदार वल्लभभाई पटेल सबकी कुंडली को अगर गहन अध्ययन करेंगे तो आपको मिलेगा कि इन की कुंडली में कालसर्प दोष ने फायदा ही पहुंचाया है|

लेकिन यह फायदा अधिकतर प्राप्त होता है जब इनके उपाय कर लिए जाएं |

Some Big Prediction Article from JyotishAcharya Mayuresh Bhargave:

  1.  Will Modi ji win 2019 election according to Indian Astrology..Read Complete
  2. Venereal Disease or Sex Disease according to Medical Astrology ..Read Here
  3. planetary reasons for aids disease, don't you have in your horoscope..Read Here
  4. Free Vastu Tips For House : Acharya Myuresh Bhargave...Read Here
  5. Most Important Vastu Tips Points For Good Energy At Home....Read Here
  6. Jyotishye Rajyog Of Becoming An IAS Officer In Your Kundli Horoscope.Read Here 

To Know more about RewardBloggers,How its Works, Why it is Special for all Writers , Please Click here

 

For more Infomation:- 

ज्योतिषाचार्य मयूरेश  शास्त्री  (M.A.B.ed) Gold Medalists 

P.G Diploma in vaastushastra ,

( Diploma in medical astrology) 

( Specailist in GemStones )

Mob :- +91-9254144009 

 

Previous Post Next Post

Post Comment